Krishna Janmashtami Poem In Hindi – जन्माष्टमी पर कविता

Krishna Janmashtami Poem In Hindi – जन्माष्टमी पर कविता : आप सभी GyaaniGuruji पर स्वागत है| जन्माष्टमी के पावन अवसर पर GyaaniGuruji आप सभी के लिए Krishna Janmashtami Poem In Hindi शेयर करने जा रहे हैं, इन Best Poem On Janmashtami का उपयोग आप अपने मित्रों के साथ कर सकते हैं|

Janmashtami Poem In Hindi
Krishna Janmashtami Poem In Hindi

भगवान श्री कृष्ण के जन्मदिन को जन्माष्टमी का जाता है| भगवान श्री कृष्ण का जन्म मथुरा के कारावास में हुआ था| श्री कृष्ण देवकी और वासुदेव की आठवीं संतान थे, और श्री कृष्ण का लालन-पालन गोकुल में हुआ था| यशोदा और नंद उनके पालन माता-पिता थे|

भगवान श्री कृष्ण और विष्णु के आठवें अवतार और हिंदू धर्म के ईश्वर हैं| इन्हें कन्हैया, श्याम, कान्हा, वासुदेव, द्वारकाधीश, मुरलीधर के नामों से भी जाना जाता है|

जन्माष्टमी का त्योहार भाद्रपद माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी को मनाया जाता है|

Krishna Janmashtami Poem In Hindi – जन्माष्टमी पर कविता

Best Poem On Janmashtami In Hindi

आज के लेख में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के पर्व पर आप सभी के साथ Best Hindi Poem On Janmashtami, Poem On Bal Krishna इत्यादि शेयर करने जा रहे हैं|

Janmashtami Poem In Hindi

मीरा की भक्ति,

राधा का प्यार,

मुरली की धुन,

माखन का स्वाद,

गोपियों संग रास,

इन सभी से मिलकर बनता है|

जन्माष्टमी का त्योहार||


पवित्र पर्व आज का दिन है,

जन्म लिया नटखट कृष्ण है,

पहली जगह-जगह खुशियों की लहर है,

जन्म लिया आज मेरे कृष्ण ने|

Short Hindi Poem On Lord Krishna

माखन चुरा कर खाया जिसने,

मुरली बजा कर सब को नचाया जिसने,

दुनिया को प्रेम का रास्ता दिखाया जिसने,

उसके जन्मदिन की खुशियां मनाओ आज|

हैप्पी जन्माष्टमी


मथुरा में लिया जिसने जन्म,

गोकुल में करा निवास,

देवकी की कोख में पले,

यशोदा मां की गोद में पले,

देवकी यशोदा है जिनकी मैया,

ऐसे ही हमारे किशन कन्हैया|

Best Hindi Poem On Janmashtami

क्या क्या रूप घरे हैं तुमने|

दर्शन दो अवतारी||

जय गिरधर कृष्ण मुरारी|

जय गिरिधर कृष्ण मुरारी||


नंद के घर आनंद भयो,

जय कन्हैया लाल की,

हाथी घोड़ा पालकी,

जय कन्हैया लाल की

Poem On Bal Krishna In Hindi

नटखट कान्हा आए द्वार,

लेकर अपनी बांसुरी साथ,

सांवली सूरत आंखों में काजल,

सर पर मोर मुकुट,

मन में प्यार,

आप सभी को मुबारक हो,

जन्माष्टमी का त्योहार


जन्मोत्सव आपका हम आज मनाएंगे,

झूमेंगे नाचेंगे खुशियां मनाएंगे,

मेवे और मिठाई का कान्हा केक मनाएंगे,

जन्म उत्सव आपका हम आज मनाएंगे,

हैप्पी जन्माष्टमी

हम उम्मीद करते हैं | कि आपको हमारा यह लेख जन्माष्टमी पर कविता बहुत पसंद आया होगा अगर आपको हमारा यह  जन्माष्टमी कविता लेख काफी पसंद आया| तो नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में हमें जरूर बताएं| कि आपको हमारा लेख Janmashtami Poem in Hindi कैसा लगा|

इस लेख को अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ WhatsApp Facebook Twitter इत्यादि पर शेयर जरूर करें|

आप सभी को GyaaniGuruji की तरफ से जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएं|

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *